सोनिया से मिलने पहुंचीं पंजाब प्रभारी आशा कुमारी

27 जून

नई दिल्ली। आशा कुमारी को पंजाब कांग्रेस का नया प्रभारी बनाए जाने के बाद फिर से विवाद शुरू हो गया है। इन विवादों के बीच आशा कुमारी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने 10 जनपथ पहुंचीं हैं।

उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश के डल्हौजी से विधायक आशा कुमारी जमीन घोटाले में दोषी हैं। फिलहाल वह जमानत पर बाहर हैं। उन पर 18 साल पहले 60 बीघा सरकारी जमीन अपने पति के नाम पर ट्रांसफ़र करने का आरोप है। इससे पहले प्रभारी बनाए गए कमलनाथ ने कमान सौंपे जाने के चंद दिन बाद ही इस्तीफ़ा दे दिया था। विपक्ष ने 1984 सिख हिंसा में उनकी भूमिका को लेकर काफ़ी सवाल उठाए थे, जिसके बाद उन्होंने इस्तीफ़ा दिया था।

जमीन घोटाले में दोषी हैं आशा कुमारी

अगले साल पंजाब में चुनाव होने जा रहे हैं। इसी के लिए उन्हें यह कार्यभार दिया गया है। बता दें कि आशा कुमारी को हिमाचल प्रदेश में लैंड ग्रैब केस (भूमि हड़पने के मामले) में फरवरी में दोषी पाया गया था। वह फिलहाल जमानत पर हैं।

भाजपा नेता विजय सांपला ने कहा कि कांग्रेस साफ और स्वच्छ राजनीति से कोसो दूर है। पीएम ने जो कांग्रेस मुक्त भारत के बारे में सोचा उसका कारण यही है। जब तक कांग्रेस जिंदा रहेगी करप्शन जिंदा रहेगा। हम पंजाब के लोगों से अपील करेंगे कि ऐसे लोगों से दूर रहें।

Total votes: 32