राहुल के कार्यक्रम के दौरान लगे मोदी के नारे

16 जनवरी.

मुंबई। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को मुंबई स्थित एक मैनेजमेंट कॉलेज में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार कांग्रेस को बेवजह बदनाम कर रही है। उन्होंने इस मौके पर छात्रों से सीधे बात करते हुए उनके सवालों के भी जवाब दिए। वित्त मंत्री अरुण जेटली का नाम लिए बिना राहुल गांधी ने कहा कि क्रिकेट में नेताओं की दखलंदाजी बंद होनी चाहिए। इस दौरान राहुल गांधी के कार्यक्रम स्थल के पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में हुई नारेबाजी ने कुछ देर के लिए माहौल तनाव पूर्ण हो गया।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को बेवजह बदनाम कर रही है, जबकि मोदी सरकारी UPA शासनकाल की नीतियों को ही आगे बढ़ा रही है। GST मुद्दे पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि कांग्रेस जीएसटी के खिलाफ नहीं है। इस बारे में अरूण जेटली से बात भी हुई थी और जेटली ने सिर्फ इतना ही कहा था कि GST बिल अच्छा है, इसके अलावा अन्य कोई बात नहीं हुई। कांग्रेस इस मुद्दे पर सहयोग के लिए तैयार है।

उन्होंने देश में बढ़ती असहिष्णुता तथा सांप्रदायिकता को लेकर भी राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारे देश में हिंदू को मुसलमान से, दलित को सवर्णों से, एक वर्ग को दूसरे वर्ग से लड़ाने का लगातार प्रयास किया जा रहा है जो देश को कमजोर कर रहा है।

लगे मोदी के नारे
अपनी यात्रा के दौरान राहुल गांधी मैनेजमेंट की पढ़ाई करने वाले छात्रों से संवाद करने के लिए नरसी मोनजी इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज में पहुंचे। यह शिक्षा संस्थान मुंबई के गुजराती बहुल उपनगर विलेपार्ले में है। इसी शिक्षा संस्थान के पास में स्थित मिठीबाई कॉलेज के कुछ छात्रों ने अपने कॉलेज के आहाते में मोदी-मोदी के नारे लगाए। नारेबाजी के समय राहुल गांधी शिक्षा संस्थान में दाखिल हो चुके थे। चूंकि मिठीबाई कॉलेज और NMIMS करीब हैं तो मोदी के समर्थन में लगे नारों की गूंज पास में खड़े NSUI के कार्यकर्ताओं को सुनाई दी। जिसके बाद गुस्साए कांग्रेसी छात्र संगठन के कार्यकर्ताओं ने मिठीबाई कॉलेज के गेट पर धावा बोल दिया। घटनास्थल पर इससे तनाव पैदा हो गया, जिसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बीच बचाव करना पड़ा। इस मामले में फिलहाल किसी को हिरासत में लेने की सूचना नहीं है।

 

Total votes: 55