श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का शुभ मुहूर्त

23  अगस्त

इस बार भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी 25 अगस्त काे है। ज्योतिष के अनुसार 24 अगस्त की रात को 10:17 मिनट से ही अष्टमी लग जाएगी। पर व्रत रखने के लिए अच्छा दिन गुरूवार है। इसलिए 25 अगस्त को ही जन्माष्टमी का व्रत रखें।

 

भगवान श्रीकृष्ण श्री विष्णु के आठवां अवतार हैं। यह जन्मोत्सव भगवान श्रीकृष्ण का 5124 वां है। जन्माष्टमी के लिए सबसे शुभ मुहूर्त 12 बजे से लेकर 12:45 बजे तक है। वैसे तो पारण का समय 26 तारीख की सुबह 10 बजकर 52 मिनट है लेकिन जो लोग पारण को नहीं मानते वो भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के बाद और उनकी पूजा करने के बाद यानी कि 25 अगस्त को ही रात 12:45 बजे के बाद अपना व्रत तोड़ सकते हैं। इस दिन स्त्री-पुरुष रात्रि बारह बजे तक व्रत रखते हैं। मंदिरों में झांकियां सजाई जाती हैं और भगवान कृष्ण, कान्हा को झूला में झुलाया जाता है।

 

इस दिन तीन मंत्रों का जाप भी बहुत शुभ और कल्याणकारी माना जाता है। सात अक्षरी, आठ अक्षरी और बारह अक्षरी मंत्र बोलने और जप करने में बड़े सरल और मंगलकारी हैं। इन मंत्रों से सभी प्रकार के भय व संकट और जीवन में आने वाली बाधाएं भी दूर होती है।

ये हैं वो तीनों मंत्र-

'गोकुल नाथाय नम:'

'ऊँ नमो भगवते श्री गोविन्दाय'

'गोवल्लभाय स्वाहा '

Total votes: 239