दिहाड़ी कर्मचारियों को स्थायी करने पर लग सकती है मुहर, कैबिनेट की बैठक आज

07  अक्टूबर

भाेपाल । मध्यप्रदेश सरकार राज्य के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को दशहरे से पहले स्थाईकर्मी का तोहफा देने जा रही है। शिवराज कैबिनेट की आज होने वाली बैठक में दैनिक वेतनभोगी समेत करीब एक दर्जन अहम प्रस्तावों पर चर्चा होगी।

शिवराज कैबिनेट की बैठक में राज्य के 48 हजार दैनिक वेतनभोगियों को स्थाईकर्मी बनाने का फैसला होगा। इस संबंध में बैठक में प्रस्ताव लाया जाएगा।कर्मचारी संगठनों की आपत्ति के बाद कैबिनेट की बैठक ने इससे पहले इस प्रस्ताव को नामंजूर करने हुए कुछ संशोधनों के साथ दोबारा लाने के लिए वापिस कर दिया था।

नये प्रस्ताव के मुताबिक दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों के स्थाई होने पर उन्हें तीन से लेकर पांच हजार रुपए तक का फायदा होगा। साथ ही अब स्थाई कर्मियों के वेतन-भत्तों का लाभ मिलेगा। कैबिनेट के एजेंडे पर नजर डालें तो

दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को स्थाईकर्मी बनाने,रिटायर आईएएस आरके माथुर को संविदा नियुक्ति देने,पुलिस विभाग में 6 हजार 250 नये पदों को भरने,कुम्हारों के ईट और मिट्टी के बर्तनों को आपदा से हुए नुकसान पर राहत राशि देने,ग्वालियर में राजस्व विभाग के कम्पोजिट भवन बनाने,निवेश संवर्धन अधिनियम में संशोधन करने,नवकरणीय ऊर्जा से बनने वाली बिजली के लिए ग्रीन एनर्जी कॉरिडोर परियोजना के लिए वित्तीय राशि देने,

विधि विभाग में आफिस आटोमेशन परियोजना लागू करने,कटनी में कंपोजिट लाजिस्टिक हब बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी।

 

 
मध्य प्रदेश से सम्बंधित अन्य ख़बरें पढ़ें

Total votes: 277