बच्चा चोरी करने के बाद हुआ पश्चाताप तो लौटा गई

19 जून
भोपाल। मध्यप्रदेश के होशंगाबाद के पिपरिया अस्पताल से चोरी हुआ नवजात मिल गया है। महिला चोर बच्चे को भोपाल के हमीदिया अस्पताल में सामान लेने के बहाने अन्य महिला को थमाकर फरार हो गई।

एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि, हमीदिया अस्पताल में एक महिला नवजात को लाई और बड़ी चालाकी से वहां खड़ी हुमा नामक महिला को सौंपकर चली गई। काफी देर तक महिला के वापस न लौटने पर हुमा ने पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची कोहेफिजा थाना पुलिस ने अस्पताल में तलाशी अभियान चलाया, जिसके बाद एक थैला बरामद हुआ। इसमें पुलिस को पश्चाताप पत्र मिला। पत्र में 6 जून को पिपरिया अस्पताल से रामबाई का बच्चा चोरी करने की बात लिखी।

महिला चोर ने मांफी मांगते हुए लिखा कि, तीन बेटियां होने से परिवार हमेशा बेटा होने का दबाव बनाता था, इसलिए उसने मजबूरी में बच्चा चोरी किया था। गलत काम करने का पश्चाताप अभी भी उसके दिल में है।

फिलहाल, पुलिस बच्चा चुराने वाली महिला चोर की तलाश में जुट गई है। इसके लिए अस्पताल में लगे सीसीटीवी फुटेज की मदद की जा रही है। वहीं, नवजात शिशु को पिपरिया स्टेशन रोड के समक्ष माता-पिता को सौंप दिया गया है।

गौरतलब है कि पिपरिया नगर के सरकारी अस्पताल में 6 जून को जन्मे एक नवजात शिशु के चोरी होने की घटना सामने आई थी। जिले के रायखेड़ी गांव की रामवती पत्नी जसवंत ठाकुर नामक महिला प्रसव पीड़ा होने पर पिपरिया के सरकारी अस्पताल में भर्ती हुई थी।

उसने एक बच्चे को जन्म दिया था। जब वह प्रसव वार्ड में बच्चे को अपने पलंग पर छोड़कर पानी लेने गई थी कि चंद मिनिट में ही उसका बच्चा गायब हो गया था। इस मामले की शिकायत महिला के परिजनों ने पिपरिया थाने में दर्ज कराई थी, तभी से पुलिस को नवजात की तलाश थी।

 

Total votes: 22