Logo

IST

Test Article

कॉमेंट्स (0)

अपना कॉमेंट लिखें

लंदन. दुनिया में कितने पेड़ होंगे? अब तक किसी को नहीं पता था। क्योंकि न किसी ने गिने, न रिकॉर्ड रखा। लेकिन पहली बार अमेरिका की येल यूनिवर्सिटी ने पेड़ों की सही संख्या बताने का दावा किया है। रिसर्च रिपोर्ट के हवाले से। ‘नेचर’ जर्नल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में अभी 30 खरब 40 अरब पेड़ हैं। पूरी दुनिया में हर साल 15 अरब पेड़ काटे जा रहे हैं। यह आंकड़ा दुनिया की कुल आबादी का दोगुना है। दुनिया की जनसंख्या अभी 7 अरब से कुछ ही ज्यादा है।
कैसे निकाला गया आंकड़ा?
यूनिवर्सिटी का दावा है कि आंकड़े लंबी रिसर्च से निकले हैं, इसलिए सटीक हैं। रिसर्च करने वालों ने सैटेलाइट तस्वीरों, वन लिस्ट और सुपर कंप्यूटर टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से दुनियाभर में पेड़ों की संख्या का खाका खींचा है। दूसरी ओर, पौधे रोपने की रफ्तार हर साल सिर्फ 5 अरब ही है। इनमें भी कई रोपने के कुछ समय बाद ही मुरझा जाते हैं।
पेड़ कम होने का असर
येल यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ फॉरेस्ट्री एंड एन्वायरमेंटल स्टडीज में रिसर्चर थॉमस क्राउथर ने कहा, ''धरती पर पेड़ों की तादाद लगभग आधी हो चुकी है। इसका नतीजा हम देख रहे हैं। बरसात के मौसम में तेज गर्मी, गर्मी में ठंड और ठंड के मौसम में बरसात का सामना पिछले एक दशक से कर ही रहे हैं। विकास के नाम पर जंगलों के सफाए के दुष्परिणाम आने शुरू हो गए हैं।'' उन्होंने ने कहा कि एक समय यूरोप पूरी तरह जंगलों से ढंका हुआ था लेकिन आज हर तरफ खेत और घास के मैदान दिखते हैं। अभी दुनिया में एक व्यक्ति के हिस्से में करीब 422 पेड़ हैं। लेकिन इससे ज्यादा खुश नहीं हुआ जा सकता।
दो साल पहले क्या था आंकड़ा?
दो साल पहले भी एक आकलन किया गया था, जिसमें दुनियाभर में पेड़ों की संख्या 400 अरब बताई गई थी। लेकिन ताजा रिसर्च में ये संख्या 8 गुना ज्यादा है। हर साल 10 अरब पेड़ इमारती लकड़ी के लिए काटे जाते हैं। धरती से करीब आधे से अधिक पेड़ नष्ट हो चुके हैं।